कान दर्द का कारण और इलाज / Kan me dard ke upay

Kan me dard ke upay

दर्द चाहे शरीर के किसी भी हिस्से में हो बहोत ज्यादा परेशानी होने लगती है। कान में कई बार पानी या धूल मिट्टी चले जाने से फंगस जमनी शुरू हो जाती है। जो धीरे-धीरे इन्फेक्शन का कारण बनती है। इससे सिर दर्द और कान में दर्द होने लगता है। कान में दर्द से कई बार मरीज को बुखार भी हो जाता है। कान में दर्द ज्यादातर बच्चों को होता है। कान का दर्द कान के अंदरूनी हिस्से में होता है। कान में दर्द का इलाज करने से पहले इसके कारणों का जान लेना जरुरी होता है। आज इस पोस्ट में हम आपको बतायेंगे कान दर्द का इलाज इन हिंदी, कान में दर्द का इलाज कैसे करें, कान के दर्द की दवा और साथ ही जानेंगे कान के दर्द का कारण।

कान में दर्द का कारण

  • कान में पानी घुसने से
  • कान में मैल जमा होने से
  • कान में इन्फेक्शन होने से
  • कान में कीड़ा घुसने से
  • कान में ज्यादा समय तक खुजली करने से
  • कान के परदे में छेद होने से

कान के रोग के लक्षण

  • कम सुनना
  • लगातार कान में दर्द होने से
  • कान में खुजली होने से
  • कान बंद होने जैसा महसूस होने से
  • कान में कुछ फसना
  • कान के परदे में छेद होना

कान दर्द का इलाज इन हिंदी / Kan me dard ke upay

Kan me dard ke upay

सरसों का तेल

सरसों का तेल किसी भी तरह के इन्फेक्शन को ठीक करने के लिये रामबाण उपाय है। कान दर्द होने पर तेल को हल्का सा गर्म करें और कान में डाल दें। इससे जल्द ही दर्द कम हो जायेगा।

लहसुन

लहसुन में एंटीबायोटिक और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो कान में हुये इन्फेक्शन को ठीक करने में असरदार है। लहसुन की 3-4 कलियों को पीस लें अब इसमें 2 चमच्च सरसों का तेल ड़ालकर गर्म कर लें। ठंडा होने पर इस तेल को छान लें। अब इसकी 2 बूंद कान में डालें।

जैतून का तेल

Kan me dard ke upay. जैतून का तेल भी कान का दर्द ठीक करने में फायदेमंद होता है। जैतून के तेल को हल्का सा गर्म करके 2 बूंद कान में डालें।

प्याज

कान के दर्द से तुरंत राहत पाने के लिये प्याज का रस निकालकर इसकी 2 बूंद कान में डालें।

अदरक

लहसुन प्याज की तरह अदरक भी कान का दर्द ठीक करने में सहायक है। यह एक नेचुरल pain किलर है जो बहोत जल्द आराम देता है। अदरक का रस निकाल कर कान में 2 बूंद डालें।

जानें पथरी का इलाज बाबा रामदेव 

पिपरमेंट

Kan me dard ke upay. पिपरमेंट तेल और उसकी पती दोनों ही कान दर्द में आराम दिलाता है। पिपरमेंट तेल में थोड़ा सरसों का तेल मिलाकर कॉटन की मदद से कान के अंदर टपका दें। इसके अलावा पेपरमेंट की ताजा पत्तियों का रस निकालकर कॉटन की मदद से कान में डालें।

आम के पत्ते

आम की ताजा पती को पीस कर उसका रस निकाल दें। अब इसे हल्का सा गुनगुना करके ड्रॉपर की मदद से 2 बूंद कान में डाल दें। दिन में 3 बार कान में यह रस डालें।

पानी से सिकाई

Kan me dard ke upay. कई बार कान में कफ जमा होने के कारण भी दर्द होना शुरू हो जाता है। गर्म पानी में तौलिया निचोड़कर इससे कान की सिकाई करें। ऐसा आप लगातार 5 मिनट तक करें।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *