कैंसर के कारण, लक्षण और उपाय / Sharir me cancer ke lakshan

Sharir me cancer ke lakshan

हमारा शरीर अनेक प्रकार की कोशिकाओं से मिलकर बना होता है। शरीर को कोशिकाओं की कोई जरुरत नहीं होती, फिर भी कोशिकाओं का बढ़ना जारी रहता है। कोशिकाओं का असामान्य विकास कैंसर कहलाता है। कैंसर एक जानलेवा बीमारी है लेकिन अगर शुरुआत में ही कैंसर की पहचान हो जाये तो इसका इलाज करना संभव है। पुरुषों में गले, मुँह, जीभ, सिर, गर्दन, ब्लड और पेट का कैंसर अधिक होता है और महिलाओं में स्तन कैंसर, गर्भाशय और ब्रेन कैंसर ज्यादा होता है। आज इस पोस्ट में हम आपको कैंसर के लक्षण, कारण और उपाय बतायेंगे।

कैंसर के प्रकार

  • ब्रैस्ट कैंसर
  • मुँह का कैंसर
  • गर्भाशय कैंसर
  • फेफड़ों का कैंसर
  • पेट का कैंसर
  • ब्लड कैंसर
  • हड्डियों का कैंसर
  • गले का कैंसर
  • स्किन कैंसर
  • योनि का कैंसर
  • गुर्दे का कैंसर

कैंसर किस कारण से होता है

  • Sharir me cancer ke lakshan. हमारे शरीर में लाल और सफ़ेद रक्त कोशिकाएं पायी जाती हैं। कोशिकाओं का संतुलन बिगड़ने और सेल्स का बनना नियंत्रण से बहार होने के कारण कैंसर बनता है।
  • शराब और धूम्रपान के कारण कोशिकाओं के जेनेटिक में बदलाव आने लगता है जिससे शरीर में कैंसर फैलता है।
  • महिलाओं में कैंसर होने का कारण गर्भ निरोधक दवा का ज्यादा सेवन बच्चे को अपना दूध नहीं पिलाना भी होता है।
  • जब कैंसर की कोशिकाएं बहोत छोटी होती हैं तो कैंसर के लक्षण दिखाई नहीं देते। लेकिन जैसे-जैसे कैंसर बढ़ता है। इसकी उपिस्थित आसपास के ऊतकों को प्रभावित करती है।
  • कैंसर का कारण हो सकता है आनुवांशिक। कैंसर का कारण होने वाले आनुवांशिक परिवर्तन हमारे माता-पिता से विरासत में मिल सकते हैं।

कैंसर के लक्षण / Sharir me cancer ke lakshan

Sharir me cancer ke lakshan

  • Sharir me cancer ke lakshan, कैंसर को पहचानने का सबसे बड़ा लक्षण है अचानक से काफी सारा वजन कम हो जाना।
  • भूख कम लगना और शरीर में कमजोरी और थकान महसूस होना।
  • शरीर में कोई भी चोट लगने के कारण लम्बे समय तक घाव ना भरने से या फिर उसकी जगह कोई गाँठ बन जाये और उसमें कोई दर्द भी ना हो।
  • Sharir me cancer ke lakshan. लम्बे समय तक कब्ज या फिर दस्त होने से पेट का कैंसर हो सकता है।
  • कैंसर में खाना ठीक से नहीं पचता जिससे भूख भी नहीं लगती।
  • छाती में बिना दर्द की गांठ होना।
  • खाते पीते समय निगलने में दिक्कत और गले में दर्द रहने से गले का कैंसर हो सकता है।
  • खांसी में और पेशाब में ब्लड आने का कारण भी कैंसर हो सकता है।
  • लम्बे समय तक साँस की कमी, खांसी और निमोनिया आदि होने का कारण फेफड़ों का कैंसर हो सकता है।

मुँह के कैंसर होने के लक्षण

  • मुँह में कोई जख्म होना
  • जीभ हिलाने पर भी दर्द महसूस होना
  • मुँह में गांठ होना
  • स्तन कैंसर के कारण
  • ब्रैस्ट के साइज में बदलाव आना
  • किसी स्तन का आकार अचानक से कम हो जाना
  • स्तनों पर सूजन आना

कैंसर से बचाव

  • अगर आप धूम्रपान करते हैं तो तुरंत बंद कर दीजिये। धूम्रपान से कई तरह के कैंसर हो सकते हैं।
  • अगर आपको स्किन कैंसर है तो धूप में रहने से बचें। सूरज से हानिकारक यूवी किरणें त्वचा के कैंसर का खतरा बढ़ा सकती हैं।
  • रोजाना 30 मिनट के लिए व्यायाम जरूर करें।
  • शराब का सेवन बंद कर दें।
  • अगर आपको कैंसर का कोई भी लक्षण दिखें तो तुरंत अपने डॉक्टर से सम्पर्क करें।
  • साबुत अनाज और चर्बी निकले हुये प्रोटीन का सेवन करें।

दोस्तों आज इस पोस्ट में आपने जाना Sharir me cancer ke lakshan और कैंसर से बचने के उपाय।

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *